अटल बिहारी वाजपेयी के प्रेरणादायक सुविचार Atal Bihari Vajpayee Thoughts and Quotes

अटल बिहारी वाजपेयी के अनमोल ज्ञानवर्धक विचार Best Thoughts of Atal Bihari Vajpayee

%e0%a4%85%e0%a4%9f%e0%a4%b2-%e0%a4%ac%e0%a4%bf%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a5%80-%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%9c%e0%a4%aa%e0%a5%87%e0%a4%af%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%85%e0%a4%a8%e0%a4%aeअटल बिहारी वाजपेयी जी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर, मध्य प्रदेश में हुआ था. वे भारत के पूर्व प्रधानमंत्री भी रह चुके हैं. प्रधानमंत्री पद में इनका कार्यकाल 16 मई से 1 जून 1996 तथा फिर 19 मार्च 1998 से 22 मई 2004 तक रहा. अटल बिहारी वाजपेयी जी हिन्दी कवि होने के साथ-साथ पत्रकार व प्रखर वक्ता हैं तथा इन्हें भारतीय जनसंघ की स्थापना करने वाले महापुरुषों की श्रेणी में रखा जाता है और वाजपेयी जी भारतीय जनसंघ अध्यक्ष भी रह चुके हैं.

विचार (Quotes) 1. आप मित्र बदल सकते हैं पर पडोसी नहीं.

विचार (Quotes) 2. हमारे परमाणु हथियार विशुद्ध रूप से किसी विरोधी के परमाणु हमले को हतोत्साहित करने के लिए हैं .

विचार (Quotes) 3. हम उम्मीद करते हैं की विश्व प्रबुद्ध स्वार्थ की भावना से काम करेगा.

विचार (Quotes) 4. पहले एक अन्तर्निहित दृढ विश्वास था कि संयुक्त राष्ट्र अपने घटक राज्यों की कुल शक्ति की तुलना में अधिक शक्तिशाली होगा.

विचार (Quotes) 5. शीत युद्ध के बाद आये उत्साह में एक गलत धारणा बन गयी की संयुक्त राष्ट्र कहीं भी कोई भी समस्या हल कर सकता है .

विचार (Quotes) 6. गरीबी बहुआयामी है. यह हमारी कमाई के अलावा स्वास्थय , राजनीतिक भागीदारी , और हमारी संस्कृति और सामाजिक संगठन की उन्नति पर भी असर डालती है.

विचार (Quotes) 7. वास्तविकता ये है कि यू एन जैसे अंतर्राष्ट्रीय संगठन उतने ही कारगर हो सकते हैं जितना की उनके सदस्य उन्हें होने की अनुमति दें.

विचार (Quotes) 8. हम मानते हैं कि संयुक्त राज्य अमेरिका और बाकी अंतर्राष्ट्रीय समुदाये पाकिस्तान पर भारत के खिलाफ सीमा पार आतंकवाद को हमेशा के लिए ख़तम करने का दबाव बना सकते हैं.

विचार (Quotes) 9. जो लोग हमसे पूछते हैं कि हम कब पाकिस्तान से वार्ता करेंगे वो शायद ये नहीं जानते कि पिछले 55 सालों में पाकिस्तान से बातचीत करने के सभी प्रयत्न भारत की तरफ से ही आये हैं .

विचार (Quotes) 10. किसी भी मुल्क को आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक साझदारी का हिस्सा होने का ढोंग नहीं करना चैये, जबकि वो आतंकवाद को बढाने ,उकसाने, और प्रायोजित करने में लगा हुआ हो.

विचार (Quotes) 11. भारत में भारी जन भावना थी कि पाकिस्तान के साथ तब तक कोई सार्थक बातचीत नहीं हो सकती जब तक कि वो आतंकवाद का प्रयोग अपनी विदेशी नीति के एक साधन के रूप में करना नहीं छोड़ देता.

विचार (Quotes) 12. संयुक्त राष्ट्र की अद्वितीय वैधता इस सार्वभौमिक धारणा में निहित है कि वह किसी विशेष देश या देशों के समूह के हितों की तुलना में एक बड़े उद्देश्य के लिए काम करता है.