18 मार्च नवरात्री 2018 शुभ मुहूर्त कलश स्थापना विधि Navratri 2018

जानें कब है चैत्र नवरात्री 2018 Chaitra Navaratri 2018 –

18 मार्च नवरात्री 201818 मार्च नवरात्री 2018  – यह तो आप जानते ही होंगे कि साल में 2 बार नवरात्री का पर्व आता है. साल में आने वाले पहले नवरात्र को चैत्र नवरात्र कहते है. इन नौ दिनों में सभी लोग श्रद्धा – पूर्वक माता के नौ स्वरूपों की पूजा-अर्चना करते है. बता दे कि इस साल चैत्र नवरात्रि 18 मार्च से शुरू होंगे। हिंदू पंचांग के अनुसार इन नवरात्रियों से ही नए वर्ष की शुरुआत होती है।

18 मार्च नवरात्री 2018 – साल 2018 में 18 मार्च से नवरात्रि शुरु होगी जोकि 25 मार्च को अष्टमी व नवमी तिथि तक रहेगी। अर्थात इस साल अष्टमी और नवमी 25 मार्च को एक ही दिन मनाई जाएंगी।

इन दिनों मां दुर्गा के जिन रूपों की पूजा होती है उनमें मा शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कुष्मांडा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और सिद्धिदात्रि देवी हैं जो कि माँ दुर्गा के 9 अलग-अलग रूप हैं।पहली नवरात्रि में घटस्थापना की जाती है व फिर पहले दिन की माता देवी से पूजा शुरू हो जाती है। आज हम आपको चैत्र नवरात्र पर घट स्थापना का शुभ – मुहूर्त, घट स्थापना की सामग्री, कलश स्थापना विधि के बारे में बताने जा रहे है।

18 मार्च नवरात्री 2018 कलश स्थापना कैसे करे Kalash Sthapna Vidhi in Navratra –

घट स्थापना का शुभ मुहूर्त 2018 Ghat Sthapana Auspicious Time –

ज्‍योतिष अनुसार 18 तारीख को घट स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 6 बजकर 31 मिनट से सुबह 07 बजकर 46 मिनट तक रहेगा. अतः घट स्थापना की कुल समय अवधि 1 घंटे 15 मिनट की है।

इसे भी पढ़ें  –

नवरात्र में घट स्थापना के लिए सामग्री Durga Puja Navratri 2018 Pooja Samagri  –

18 मार्च नवरात्री 2018 – चैत्र नवरात्र में घट स्थापना के लिए सबसे पहले कलश ले. ये कलश मिट्टी ,सोना, चांदी, तांबा या पीतल का भी हो सकता है। लेकिन लोहे या फिर स्टील के कलश का प्रयोग ना करें. कलश में रखने के लिए कुछ सिक्के, कलश ढकने के लिए ढक्कन व  ढक्कन में रखने के लिए बिना टूटे चावल, मोली, दूर्वा, आम के पत्ते, फूल माला, साबुत सुपारी, पानी वाला नारियल और नारियल को लपेटने के लिए लाल कपडा, लाल सूत्र आदि.

कलश स्थापना की विधि Establish the Kalash in Navaratri

 18 मार्च नवरात्री 2018 – पूजा स्थल को शुद्ध  करने के पश्चात वहां पर  लाल रंग का कपड़ा बिछाये. लाल कपड़े पर थोड़ा चावल रखें और भगवान गणेश जी का स्मरण करें। व मिट्टी के पात्र में जौ बोना चाहिए. अब इस पात्र के ऊपर जल से भरा हुआ कलश स्थापित करें और इस पर रक्षा सूत्र बांध लें।

अब रोली से कलश पर स्वास्तिक या ऊं बना लें। कलश के अंदर दूर्वा, फूल, साबुत सुपारी,व सिक्का आदि डालें। अब इसके ऊपर आम या अशोक के पत्ते रखें और ऊपर नारियल रख दें। इसके बाद इस पर लाल कपड़ा लपेट कर मोली अच्छे लपेट दें। अब दिया जलाकर कलश का अच्छे से पूजन करें। धूपबत्ती जलाएं व माला अर्पित करने के बाद कलश को फल, मिठाई, आदि अर्पित करें। इसके साथ ही ध्यान रखें कि नारियल की स्थापना इस प्रकार करें कि उसका मुख साधक अथार्त पूजा करने वाले की तरफ रहे।

FAQ-

प्रश्न – साल में नवरात्री कितने बार आती है?

उत्तर –  नवरात्रि का पर्व साल में चार बार आता है।

प्रश्न – साल 2018 में चैत्र नवरात्री कब से शुरू है?

उत्तर – साल 2018 में चैत्र नवरात्री 18 मार्च से शुरू होगी जो 25 मार्च को अष्टमी और नवमी तिथि तक रहेगी। अथार्त इस बार अष्टमी व नवमी एक ही दिन मनाई जाएंगी।

प्रश्न – नवरात्री 2018 पर कलश की स्थापना करने का शुभ मुहूर्त क्या है?

उत्तर – नवरात्री 2018 पर कलश की स्थापना (घट स्थापना) करने का शुभ मुहूर्त सुबह 6 बजकर 31 मिनट से सुबह 07 बजकर 46 मिनट तक रहेगा.

प्रश्न – नवरात्री व्रत 2018 में पूजा सामग्री कौन – कौन सी है?

उतर – नवरात्री व्रत 2018 में पूजा सामग्री – घट स्थापना के लिए कलश, कलश ढकने के लिए ढक्कन,

बिना टूटे चावल, सिक्के, नारियल, लाल कपडा, मोली या लाल सूत्र, साबुत सुपारी, दूर्वा, अशोक या आम के पत्ते, फूल माला आदि का होना पूजा में जरूरी है.

प्रश्न – चैत्र नवरात्री में कलश स्थापना करने की विधि क्या है?

उत्तर – कलश स्थापना करने की विधि –

कलश स्थापना करते समय सबसे पहले पूजा स्थल को शुद्ध करें और और वहां पर एक लाल कपड़ा बिछाये. अब मिट्टी के पात्र में जौ बोये और इसके ऊपर जल से भरा हुआ कलश स्थापित करें और इस पर रक्षा सूत्र बांध लें। कलश के अंदर दूर्वा, फूल, साबुत सुपारी,व सिक्का आदि डालें। अब इसके ऊपर आम या अशोक के पत्ते रखें और ऊपर नारियल रख दें।

Question – Sal me Navaratri kitne bar manayi jati hai?

Answer – Sal me Navaratri 4 bar manayi jati hai.

Question – How often does Navratri come in the year?

Answer – The festival of Navratri comes four times a year.

Question – When does Chaitra Navaratri begin in the year 2018?

Answer – Chaitra Navratri will start from March 18, 2018, which will remain till the Ashtami and Navami dates on 25March that’s why this time Ashtami and Navami will be celebrated on the same day.

Question – What is the auspicious time for establishing the Kalash in Navaratri 2018?

Answer – The auspicious time for establishing the Kalash on Navratri 2018 will be from 6.31 am to 7.46 am in the morning.