मूंग के लाभकारी स्वास्थ लाभ और अनमोल गुण Green pulse nutrition facts and health benefits

मूंग दाल के लाभकारी गुण और फायदे Amazing benefits of green pulse

अंकुरित तथा साबुत दाल हमारे स्वास्थ के लिए बहुत ही लाभदायक होती हैं. रोजाना दाल के सेवन से हमारे शरीर तमाम समस्याओं से दूर रहता है. वैसे तो सभी दालों में पोष्टिक गुण पाये जाते हैं मगर मूंग की दाल आसानी से पचने वाली दाल होती है.

इस दाल में प्रोटीन की भरपूर मात्रा पाई जाती है. इसी वजह से व्यक्ति को दालों का अधिक से अधिक सेवन करने की सलाह दी जाती है. मूँग साबुत हो या धुली, पोषक तत्वों से भरपूर होती है. अंकुरित मूंग में केल्शियम, आयरन, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और विटामिन्स आदि की अत्यधिक मात्रा होती है. आमतौर पर मूंग दाल दो प्रकार की होती है हरी और पीली मूंग दाल, धुली और छिली हुई मूंग दालें पीले रंग की होती हैं.

दालों में प्रोटीन की मात्रा सबसे ज्यादा पाई जाती है. पकाने में आसान होने के साथ ही यह पचाने में भी आसान होती है. मूंग दाल को रोगियों के लिए बहुत ही लाभदायक माना जाता है, क्योंकि यह दाल जल्दी पच जाती है जिससे रोगों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होती. दाल तो कई प्रकार की होती हैं मगर मूंग दाल को सब दालों में सबसे पौष्ठिक दाल के रूप में जाना जाता है.

मूंग दाल के अनमोल लाभ 

कब्ज की समस्या से राहत दिलाये मूंग दाल (Green pulse for Constipation) – कब्ज की समस्या होने पर हम ठीक से खाना आदि नहीं खा सकते जिसके कारण शरीर कमजोर होने लगता है. कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए मूंग दाल लाभदायक होती है. मूंग दाल की खिचड़ी बनाकर खाने से कब्ज की समस्या कम हो जाएगी.

मूंग दाल से करें दाद, खाज-खुजली की समस्या को दूर (Green pulse for Ringworm, itching problem) – अनेक लोगो को कभी-कभी दाद, खाज-खुजली की समस्या हो जाती है. इस समस्या को दूर करने के लिए थोड़ी मूंग दाल लें. अब इसको छिलकों सहित पीस लें. अब इस पीसी हुयी मूंग दाल को दाद, खाज-खुजली वाले स्थान पर लगाए. इससे आपको लाभ होगा.

टायफाइड का उपचार करें मूंग दाल से (Green pulse for Typhoid) – टायफाइड की परेशानी में रोगी को बहुत ही कष्ट होता है. इस परेशानी के समाधान के लिए मूंग की दाल लाभदायक होती है. टायफाइड के रोगियों को सादी मूंग दाल का सेवन कराना चाहिए. इससे टायफाइड की समस्या को काफी हद तक कम किया जा सकता है.  

शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए मूंग दाल का प्रयोग (Green pulse for Physical weakness) – कई व्यक्ति ऐसे होते हैं जिन्हे किसी बीमारी की वजह से शारीरिक कमजोरी होने लगती है. कमजोर शरीर के लिए मूंग बहुत ही फायदेमंद होती है. ऐसे व्यक्तियों को रोजाना मूंग की दाल खानी चाहिए. इससे शरीर में ताकत आती है.

जयादा पसीना आने पर करें मूंग दाल का प्रयोग (Green pulse for sweat problem) – कई लोग ऐसे होते हैं जिन्हे अत्यधिक पसीना आता है. इस परेशानी को दूर करने के लिए मूंग की दाल फायदेमंद होती है. इसका प्रयोग करने के लिए मूंग को थोड़ा गर्म करें. अब इसे महीन पीस कर इसमें थोड़ा पानी डालकर इसका पेस्ट तयार कर लें. अब इस मिश्रण से अपने शरीर की मसाज करें. इससे अधिक पसीना आने की समस्या समाप्त हो जाती है.

त्वचा जलने पर करें मूंग से उपचार (Green pulse for Skin burns) – अनेक बार खाना बनाते समय या कोई अन्य काम करते समय हमारे शरीर का कोई हिस्सा जल जाता है, जिसके कारण त्वचा में अत्यधिक जलन होने लगती है. त्वचा की जलन को दूर करने के लिए थोड़ी मूंग को पानी के साथ पीस कर जले हुए स्थान पर लगाए. इससे जलन कम होने लगती है.

दस्त की समस्या को दूर करने के लिए मूंग का प्रयोग (Green pulse for Loose motions) – दस्त आदि की समस्या को ठीक करने के लिए भी मूंग बहुत फायदेमंद होता है. इसके प्रयोग के लिए थोड़े चावल और मूंग दाल की खिचड़ी बनाए. अब इस खिचड़ी में घी डालकर खाये. इससे दस्त आदि की समस्या कम होने लगती है.