माइग्रेन के लक्षण और आसान उपचार Migraine Headache cure tips

माइग्रेन का दर्द का सफल रामबाण घरेलु इलाज Successful Treatment of Migraine

माइग्रेन में होने वाला सर दर्द कितना तकलीफ देने वाला होता है. आम बोल चाल की भाषा में इसे अधिकपारी भी कहा जाता है. इसे यह नाम इसलिए दिया गया है क्योंकि आम तौर पर इसका रोग के होने पर सिर के आधे हिस्से में दर्द रहता है.

जबकि आधा हिस्सा दर्द से मुक्त रहता है. माइग्रेन होने पर सिर में बहुत ही तेज दर्द होने लगता है. जिसमें सिर के एक ही ओर तेज़ दर्द होने लगता है। यह दर्द होने पर कभी-कभी कई अन्‍य बीमारियों भी हों जाती हैं जैसे, चक्‍कर, उल्‍टी और थकान आदि. माइग्रेन से राहत पाने लिए अनेक बार हम दवाइयों का सेवन करते हैं लेकिन कई बार यह दर्द इनसे भी कम नहीं होता. माइग्रेन का दर्द सुबह से ही शुरू हो जाता है तथा दिन में यह दर्द बहुत अधिक तेज होने लगता है। लेकिन माइग्रेन के दर्द को को सफल घरेलू उपचार के माध्यम से ठीक किया जा सकता है।

माइग्रेन के कारण(Cause of Migraine)

भावनात्मक कारण (Emotional reason)- अधिकतर लोगों को भावनात्मक कारणों से माइग्रेन की समस्या होने लगती है। जिन व्यक्तियों को हाई या लो ब्लड प्रेशर, ब्लड शुगर और तनाव जैसी परेशानियां होती हैं उन लोगो के माइग्रेन से ग्रस्त होने की आशंका अधिक हों जाती है। इसके अलावा हैंगओवर, किसी तरह का संक्रमण और शरीर में विषैले तत्वों के उतपन्न होने से यह समस्या होने लगती है.

एलर्जी (Allergy) – कभी-कभी माइग्रेन एलर्जी के कारण भी हो सकता है तथा लोगों में एलर्जी के अलग-अलग कारण हो सकते हैं। अनेक लोगों को खाने पीने से भी एलर्जी हों जाती है तथा कुछ लोगों को दूध और उससे बनी चीजें खाने से एलर्जी होने लगती है तो कुछ लोगो के लिए साग-सब्जी भी एलर्जी होने का कारण बन जाती हैं और अनेक लोग ऐसे होते हैं जिन्हे धुप से भी एलजी होती है. अगर आप जानते हैं की इन सब चीजों के द्वारा आपको एलर्जी होती है तो इन सब चीजों से बचकर रहना चाहिए.

माइग्रेन के लक्षण (Symptoms of Migraine )

इस रोग के होने पर सिर के आधे हिस्से में भयानक दर्द होने लगता है। यह एक न्यूरोलॉजिकल समस्या है। इस रोग में रह-रह कर सिर के एक तरफ बहुत ही चुभन भरा दर्द होने लगता है. माइग्रेन का दर्द कुछ घंटों से लेकर कभी-कभी तीन दिन तक भी होता है. इस रोग में सिरदर्द के साथ-साथ गैस्टिक, जी मिचलाने, उल्टी जैसी समस्याएं होने लगती हैं. इस दर्द में अनेक बार रोशनी यानि उजाले से तथा फोनोफोबिया यानी शोर से भी रोगों को परेशानी होने लगती है. यह परेशानी पर्याप्त नींद न लेना, भूखे पेट रहना और पर्याप्त मात्रा में पानी न पीना आदि से भी हों सकती हैं.

माइग्रेन के घरेलू उपाय (Home Remedy for Migraine)

देशी घी और गुड़ माइग्रेन का दर्द कम करने के लिए (Ghee and jaggery for reduce migraine pain )-

माइग्रेन होने पर देशी घी में थोड़ा गुड मिलाकर खाने से यह दर्द कम हों जाता है. जब दर्द सुबह से शुरू हों तो आप दूध में जलेबी या रबड़ी का सेवन भी कर सकते हैं. इस विधि के प्रयोग से आधे सिर में होने वाले दर्द में राहत मिलती है.

तुलसी के पत्तों का प्रयोग माइग्रेन का दर्द कम करने के लिए (Basil leaves for reduce migraine pain )-

माइग्रेन का दर्द यदि सुबह से शुरू हों तो इसके लिए तुलसी के पत्तों का प्रयोग बहुत ही अच्छा है. तुलसी के कुछ ताजा पत्तो को लें. अब इन पत्तो को चाय में सूखा लें. सूखने के बाद इनको पीस कर इनका चूर्ण बना लें. अब इसमें थोड़ा शहद मिलाकर दिन में तीन बार इसका सेवन करें. यह माइग्रेन के दर्द को कम करने में मदद करता है.

शहद, नमक का प्रयोग माइग्रेन का दर्द कम करने के लिए (Honey and salt for reduce migraine pain )-

आधा चम्मच शहद में आधा चम्मच नमक मिला लें. अब इन दोनों को अच्छी तरह से मिक्स करके चाट लें. इस मिश्रण के सेवन से माइग्रेन की समस्या से राहत मिलेगी.

हींग का प्रयोग माइग्रेन का दर्द कम करने के लिए (Asafoetida for reduce migraine pain )-

हींग माइग्रेन के दर्द से राहत दिलाने में बहुत ही असरकारी होता है. हींग में थोड़ा पानी डालकर इसे अच्छी तरह घोल लें. इसे घोलने के बाद सूंघे तथा इसका पेस्ट माथे पर लगाएं. इससे माइग्रेन से निजात मिलेगी.

अंगूर का रस माइग्रेन का दर्द कम करने के लिए (Grapes for reduce migraine pain )-

प्रतिदिन अंगूर का रस पीने से भी इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है. इसके अलावा थोड़ा शक्कर लें. अब थोड़ा पानी लेकर इसमें शक़्कर मिलाये. अब इस मिश्रण को धीरे-धीरे पिए. दर्द से राहत मिलेगी.

लहसून का प्रयोग माइग्रेन का दर्द कम करने के लिए (Garlic for reduce migraine pain )-

लहसून माइग्रेन की समस्या से छुटकारा दिलवाने में अहम भूमिका निभाता है। इसके प्रयोग के लिए थोड़ा लहसून लें. अब इसे अच्छी तरह से पीस कर उसका लेप दर्द वाली जगह पर लगाए. इसके अलावा लहसून के रस की दो बूंदे नाक के छिद्र में डालने से भी इस दर्द से राहत मिलती है.

माइग्रेन में योग की है अहम भूमिका  (Yoga for reduce migraine pain )-

योग हमारे शरीर के जैव रासायनिक और हार्मोनल संतुलन को बनाए रखता है. माइग्रेन से छुटकारा पाने के लिए साँस लेने के व्यायाम तथा अन्य योग की मदद से इस समस्या से राहत मिल सकती है.

माइग्रेन के दर्द को कम करने के लिए आप हस्तपदासन, सेतु मुद्रा, बालासन, मर्जरियासन आदि योग कर सकते हैं. जिनकी मदद से आसानी से माइग्रेन की समस्या को कम किया जा सकता है.

अदरक का प्रयोग माइग्रेन का दर्द कम करने के लिए (Ginger for reduce migraine pain )-

अदरक सिर दर्द को ठीक करने में काफी मददगार होती है. इसके लिए जब भी आप खाना खाते हैं तो अदरक डाल कर खाये. इससे सिर के दर्द को कम किया जा सकता है.

दूध का सेवन माइग्रेन का दर्द कम करने के लिए (Milk for reduce migraine pain )-

यदि सिर में कोशिका को ऊर्जा नहीं मिलती है तो माइग्रेन दर्द होने लगता है. दूध या दूध से बने प्रोडक्‍ट्स माइग्रेन को ठीक करने में काफी मददगार होते हैं. इन पदार्थो में विटामिन बी होता है जिसे राइबोफ्लेविन कहा जाता है और यह कोशिका को ऊर्जा प्रदान करते हैं और दर्द कम होने लगता है.