चक्कर आना कारण, लक्षण और उपाय Dizziness Causes and Treatments tips

चक्‍कर आने की बीमारी या सिर घूमना के कारण ओर निवारण

चक्कर आना-एक ऐसी बीमारी है, जिसके दौरान व्यक्ति को सब कुछ घूमता हुआ दिखाई देता है. कुछ देर बैठे रहने के बाद जैसे ही हम उठते हैं, तब हमारी आंखों के सामने अंधेरा सा होने लगता है.

चक्कर आने के कारण What Causes Dizziness –

ऐसा लगता है जैसे कि चारो ओर की चीजें तेजी से घूम रही हैं। यह स्थिति तब आती है जब मस्तिष्क में रक्त की पूर्ति की कमी हो जाती है. चक्कर आने की यह परेशानी सभी उम्र के लोगों को हो सकती है. चक्कर आने के अनेक कारण होते हैं जैसे मस्तिष्क में रक्त का प्रवाह ना होना तथा ट्यूमर होना, गर्दन में या सिर दर्द होना, सर्वाइकल स्पॉन्डोलाइटिस, गर्दन में अधिक जोर से कॉलर या टाई बाँधना, रात को अधिक ऊँचे तकियों पर सोना, एक ही करवट में रोज सोने के कारण, देर रात तक टीवी देखना, हाई या लो बी पी, पेट में कोल्हाईटिस होना, पतले दस्त होना, गर्दन झुकाकर ड्राइंग, पेंटिंग, कढ़ाई आदि काम करना, उपवास अधिक करना, भोजन समय पर न लेना जैसे कई कारणों से चक्कर आते हैं.

चक्कर आने के प्रमुख कारण

बिनाइन पैरोक्जिमल पोजीशनल वर्टाइगो(बी पी पी वी) – चक्कर आने का एक प्रमुख कारण बी पी पी वी है. इसके कारण अचानक सिर घूमने लगता है तथा एक ही दिशा में सिर घूमता है. इस प्रकार का ‘वर्टिगो’ अधिक गम्भीर नहीं होता तथा इसका इलाज आसानी से हो जाता है.

एकाउस्टिक न्यूरोमा – यह एक प्रकार का नर्व टिश्यू का ‘ट्यूमर’ होता है, जिसके कारण चक्कर जैसी समस्याएं होने लगती हैं. इसमें चक्कर आने के साथ-साथ एकतरफा कान में आवाज शुरू हो जाती है तथा सुनाई भी कम देने लगता है.

माइग्रेन – माइग्रेन होने पर भी चककर आने लगते हैं. माइग्रेन होने पर सिर में अधिक दर्द होने लगता है जिसके उपरांत चक्कर आने लगता है.

डायबिटीज – डायबिटीज होने पर धमनियां कठोर होने लगती हैं. जिसके कारण मस्तिष्क को रक्त आपूर्ति में बाधा होती है. इस कारण व्यक्ति को चक्कर भी आ सकता है.

शरीर में खून की कमी (एनीमिया) – एनीमिया होने पर व्यक्ति के शरीर का खून कम होने लगता है जिसके कारण उसे चक्कर आने लगता है.

चक्कर की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय 

  • तुलसी के रस में चीनी मिलाकर सेवन करने से या तुलसी के पत्तों में शहद मिलाकर चाटने से चक्कर की समस्या कम होने लगती है.
  • चक्कर आने पर दस ग्राम धनिया पाउडर तथा दस ग्राम आंवले का पाउडर लें. अब इसमें एक गिलास पानी डालकर भीगा दें. सुबह अच्छी तरह मिलाकर पी लें. इससे चक्कर आने बंद हो जाते है.
  • चक्कर आने पर आधा गिलास पानी में दो लौंग डालकर इसे उबाल लें और उस पानी को पिएं. इस पानी को पीने से फायदा होता है।
  • चक्कर आने पर 10 ग्राम आंवला, 3 ग्राम काली मिर्च और 10 ग्राम बताशे को एक साथ पीस लें। लगभग 15 दिनों तक प्रतिदिन इसका सेवन करें चक्कर आना कम हो जायेगा.
  • दोपहर के खाने के 2 घंटे पहले और शाम के नाश्ते में फलों का जूस पीने से चक्कर आने बंद हो जाएंगे.
  • नारियल का पानी प्रतिदिन पीने से भी चक्कर आने कम हो जाते हैं.
  • चाय व कॉफ़ी का सेवन कम करना चाहिए.
  • 20 ग्राम मुनक्का को घी में सेंककर इसमें सेंधा नमक डालकर खाने से चक्कर आने कम हो जाते हैं.
  • खरबूजे के बीजों को पीसकर इन्हें घी में भुन लें। अब इसकी थोड़ी मात्रा सुबह शाम लें, इससे चक्कर आने की समस्या कम होने लगती है.
  • अधिक मात्रा में पानी पिएं. पानी पीने से हमारे शरीर की अनेक बीमारिया कम होती है.